0

How to use garlic to prevent heart attack

क्या सच में लहसुन है कारगार दिल के दौरेे के लिए  :


जी हां दोस्तों कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए लहसुन बड़ा प्रभावशाली है | और इस प्रकार लहसुन  ब्लड-प्रैैशर को रोकने के लिए बहुत कारगर है |  कोलेस्ट्रोल एक ऐसा चर्बीदार पदार्थ है |  जो रक्त नलीकाओं में जमा हो जाता है | इससे पहले एथेरोस्क्लेरोसिस (atherosclerosis) होता है और अंत में ब्लड-प्रैैशर तथा दिल का दौरा पड़ने लगता है |

 garlic
लेकिन यह सत्य है कि लहसुन से कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम किया जा सकता है | लहसुन में गंधक का  एक यौगिक होता है इसमें मुख्यतः डांंईऐलील , डाई सल्फाइड ऐलील, प्रोपाइल और पोली सल्फाइड नामक तत्व होते हैं |  यह यौगिक रक्त को पहला बनाए रखता है और धमनियों में जमे कोलेस्ट्रोल को निकालने का काम करता है |
 heart attack
ब्लड-प्रैैशर बढ़ने का प्रमुख कारण धनिया में जमा होने वाला कोलेस्ट्रॉल नामक पदार्थ है|  जिसमें धमनियांं  सिकुड़कर रोग ग्रस्त हो जाती हैं | इसका परिणाम यह हो जाता है  कि धमनियों में रक्त का बहाव कम हो जाता है जिससे ब्लड-प्रैैशर बढ़ने लगता है | घी और चर्बी वाले पदार्थ कोलेस्ट्रॉल बढ़ाते हैं | 
लहसुन धमनियों को सिकुड़ने से ही नहीं रोकता , सिकुड़ी हुई रोग ग्रस्त धमनियों में जमे कोलेस्ट्रोल को निकाल कर पुनः ठीक कर देता है | ब्लड-प्रैैशर के रोगियों को भोजन में लहसुन अथवा लहसुन की चटनी का सेवन अवश्य करना चाहिए | सुबह – शाम एक-एक चम्मच पिसा लहसुन शहद के साथ सेवन करने से ब्लड-प्रैैशर नार्मल रहता है और दिल के दौरेे ( heart attack ) की संभावना नहीं होती |
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Home Made Remedies

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *