0

hot wind diseases and prevention

hot wind diseases

 

लू लगना   (Hot wind):

गर्मी शुरू होने वाली है और लू से बचाव बेहद जरुरी है लू लगने पर बेचैनी व घबराहट महसूस होती है उल्टी एवं दस्त होने लगते है तथा ताप चढ़ जाता है देसी नुस्खो की मदद से लू से बचा जा सकता है |

  • जौ का आटा और उसमे प्याज पीसकर मिला ले इसका शरीर पर लेप करने से लू से तुरंत राहत मिलती है |
  • लू लगने से शरीर मे जलन होने पर जौ के आटे में पानी मिला कर पतला सा लेप बना ले इसे पुरे शरीर पर लगाने से तुरंत राहत मिलाती है |
  • प्याज का रस कनपटियो और छाती पर मलने से लू नहीं लगती |खाने के साथ प्याज का सेवन बहुत लाभदायक है |
  • लू से ताप हो जाने पर इमली को पानी के साथ उबालकर ठंडा होने दे फिर उसे छान ले अब इसे शर्बत की तरह पिये अतः उस पानी में किसी कपडा भिगो कर रोगी पर छीटे मारने से लू के ताप मे तुरंत आराम मिलता है |
  • गर्मी में घर से बहार निकलने से पहले  तुलसी के पत्तो के रस मे हल्का सा काला नमक मिला कर सेवन करने से लू नहीं लगती प्यास भी कम लगती है और पसीना भी नहीं आता |
  • इमली के गुदे को हाथ और पैरो के तलवो पर मलने से लू का असर समाप्त हो जाता है |
  • खरबूजे के बीजो को पीसकर सिर तथा शरीर पर लेप करने से एवं इनकी ठंडाई बनाकर पीने से लू में तुरंत राहत मिलती है |
  • हरे नारियल के दूध के साथ काले जीरे को पीसकर शरीर पर मलने से लू लगने पर होने वाली बैचेनी एवं घबराहट दूर होती है |

  

Spread the love

Home Made Remedies

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *