0

Do you know about these qualities of apple

 

क्या आप जानते है ? सेब से कैसे ठीक होते है चर्म रोग ,गठिया रोग,दिल की कमजोरी ,पथरी ,जैसे जटिल रोग ?

सेब हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना लाभकारी है ,यह आप सभी जानते है , सेब हमारे जीवन के लिए किसी अमृत से कम नहीं है | आयुर्वेद ने भी मानसिक तनाव ,चर्म रोग ,गठिया जैसे अनगिनत रोगों का अंत सेब से ही किया है|ऐसे ही कुछ आयुर्वेदिक नुस्खे हम आपको बता रहे है , ताकि आप इनसे कुछ लाभ प्राप्त कर सके |

 apple

मानसिक तनाव ,चर्म रोग ,गठिया रोग :

ऐसे रोगों में प्रति दिन सुबह खाली पेट दो सेब खाने से यह रोग जड़ से ख़त्म हो जाते है और शरीर में नए खून का संचार होता है , नयी शक्ति आती है , शरीर भी हमेशा उर्जावान रहता है , शरीर में चुस्ती-स्फूर्ति बनी रहती है |

दांत रोग :

अगर आपको ऐसा महसूस हो की आपके दांत गलने लग गए है | या दाढ़ में गड्डे पड़ गए हो और आपको खाना खाने में परेशानी होती है |

नज़ला,जुखाम :

सर्दी जुखाम वैसे तो आम बात है |  जब मौसम बदलता है तब सर्दी जुकाम का होना एक आम बात है |लेकिन बहुत से ऐसे भी इन्सान है जिन्हें सर्दी जुखाम जैसे रोग हमेशा घेरे रहते है | ऐसे रोगियों को खाना खाने से पहले बिना छीले एक सेब प्रतिदिन खाना चाहिए  |

दिल की कमज़ोरी :

अगर आपको भी अपना दिल स्वस्थ रखना है | तब आपको सेब का मुरब्बा एक नग प्रतिदिन खाना चाहिए सेब का मुरब्बा दिल के लिए बहुत ही फादेमंद है | जिन लोगों के दिल में किसी प्रकार की कोई समस्या हो उन्हें सेब का मुरब्बा गाय के दूध के साथ लेना चाहिए |

स्मरण शक्ति बढ़ाता है सेब:

जिन लोगों को भूलने की बीमारी हो अथवा जिनकी स्मरण शक्ति कमजोर हो | ऐसे लोगों के लिए सेब एक प्राकृतिक उपहार है | ऐसे लोगो को एक नग अम्बरी सेब छीलकर ,एक गिलास गाय के दूध के साथ प्रतिदिन खाना चाहिए | इससे दिमागी शक्ति प्रबल होती है | पढ़ने वाले बच्चों के लिए यह बहुत फायदेमंद है |

पथरी में सेब के फायदे  : 

आज पथरी रोग के कारण अनेक लोग चिंतित हैं क्योंकि इस रोग के कारण इंसान को पेट के रोग तो लगते ही हैं इसके साथ गुर्दे पर भी बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है डॉक्टरों के पास तो इस रोग का एक ही इलाज है वह है ऑपरेशन और मेरे विचार में तो यह अंतिम इलाज ही हैं इसके पश्चात कोई और इलाज नहीं है | परंतु इससे पहले तो अनेक इलाज है |
ऐसे रोगियों को हर रोज सेब का रस खाली पेट लेना चाहिए जिन लोगों को पथरी रोग नहीं भी हो, वह भी यदि सेब का रस का सेवन करते हैं , तो वह भविष्य में पथरी रोग से बचे रहेंगे |

बच्चों के पेचश :

अक्सर बच्चों को पेचश रोग लगा ही रहता है | कुछ बच्चों को तो दूध पीते ही उल्टी और दस्त आने लगते हैं | ऐसे बच्चों का दूध बंद करके थोड़े समय के पश्चात ही सेब का रस एक एक घंटे के पश्चात् देते रहे | इससे यह रोग जड़ से जाता रहेगा |

Liver -जिगर और गैरा :

यह रोग बहुत फैला हुआ है | जो लोग इन रोगों से बचने का प्रयास पहले से नहीं करते  वह अपने लिए स्वयं दुख खरीदने का कारण बनते हैं  | यदि वह हर रोज सुबह दो सेब तथा खाना खाने के पश्चात एक एक सेब लेते रहें तो यह दोनों रोग ठीक हो जाएंगे उनके शरीर में नयी शक्ति आएगी तथा नए खून का संचार होगा |

भूख ना लगना :

जिन लोगों को भूख नहीं लगती ऐसे लोगों को एक गिलास खट्टे सेब के रस में कुंजा मिश्री मिलाकर प्रतिदिन पीना चाहिए |

Spread the love

Home Made Remedies

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *