शनिवार, 16 फ़रवरी 2019

abdominal diseases and treatments


     उदर के रोग और उपचार :  

उदर के रोग मे सबसे बड़ी समस्या है की पेट खाली होने के बावजूद भूख न लगना और अगर भूख नहीं लगेगी तो शरीर मे कमजोरी आएगी जब  कमजोरी आएगी तो और बीमारिया साथ लाएगी इसलिए उदर के रोग का उपचार अति आवश्यक है | 





 abdominal




  1. भोज़न करने से पहले आधा गिलास अनन्नास का रस पीने से भूख लगने लगती है |
  2. अदरक भोज़न मे स्वाद तो लाता ही है साथ ही  उपापचय (metabolism) को ठीक रखता है 10 ग्राम अदरक को बारीक काट कर उसमे काला नमक मिला कर भोज़न करने से पहले सेवन करने से भूख तो बढती ही है साथ ही पेट की गैस भी साफ़ हो जाती है |
  3. केवड़े के फूल को आधा घंटे के लिए एक गिलास पानी में डाल दे फिर उस पानी को पी ले ऐसा करने से आपको भूख भी लगेगी और शरीर की सारी गर्मी निकल जायेगी और शरीर मे तरावट आ जायेगी |
  4. अनार का सेवन करते रहने से भूख बढती है |
  5. प्रतिदिन सुबह नींबू का रस एक गिलास पानी में डालकर पीने से भूख बढती है |
  6. दो छुआरो को एक गिलास दूध मे उबाले फिर उस दूध को छान कर पीने से भूख बढती है और खाना भी पच जाता है |
  7. जीरा,सोंठ,अजवायन,छोटी पीपल ,और काली मिर्च समान मात्रा में ले ले उसमे थोड़ी सी भुनी हींग मिला ले इन सब को बारीक पीस कर चूर्ण बना एक साफ शीशी मे रख ले एक गिलास मठ्ठे ,छाछ में थोडा सा चूर्ण डालकर सेवन करे ऐसा लगातार दो सप्ताह तक करने से भूख बढने लगती है और पेट भी ठीक रहता है | 
  8. सेब का सेवन करते रहने से भूख बढती है और रक्त भी साफ होता है |

0 Comments:

एक टिप्पणी भेजें