Dental diseases and their treatment

दांत एवं मुहं के रोग और उनके उपचार:

( Tooth and mouth disease and their home remedies)


भोजन करने के बाद या कुछ खाने के बाद अगर मुहं व दांत साफ़ ना किये जाए तो दांतों के ऊपर एक चिपचिपी पर्त जम जाती है  जिस पर जीवाणु उत्पन्न हो जाते है | यह जीवाणु दांतों के बीच में अटके भोजन के कणों के प्रोटीन पर जिंदा रहते है और हमारे मसुडोंं को खोखला कर देते है जिससे हमारे दांत कमजोर होकर जल्दी टूटने लगते है और मुहं से दुर्गन्ध आने लगती है इनसे बचने के लिए कुछ देसी नुस्खे है जिनसे आप अपने दांतों  एवं मुहं की बीमारियों को दूर कर सकते है |

Dental and mouth Diseases 

 


दांतों में ठंडा-गर्म लगने की समस्या को दूर करेंगे यह देसी और असरदार नुस्खे :>
  1. नीम की दातुन दांत साफ़ करने के लिए सबसे अच्छा साधन है दातुन नीम की पकी टहनी की होनी चाहिये नीम की दातुन से दांतों के कीड़े भी मर जाते है |
  2. आंवला दांतों से काट- काटकर चबाकर खाये इससे दांत मजबूत और साफ़ रहते है अगर दांतों में कीड़े लगे हो तो वह भी समाप्त हो जाते है |
  3. जायफल ,लौगं व छोटी इलायची के दाने पांच-पांच ग्राम इसमें थोडा सा कपूर मिला ले इन सब को गुलाबजल में पीसकर छोटी-छोटी गोली बना ले दिन में 3 से 4 बार एक-एक गोली चूसते रहने से मुहं से दुर्गन्ध नहीं आती |
  4. आंवला जलाकर उसमे थोडा सा सेंधा नमक मिलाये इसमें थोडा सरसों का तेल डालकर मंजन करने से पायरिया रोग दूर होता है |
  5. अमरुद के पत्ते को चबाने से दांतों का दर्द दूर होता है अमरुद के पत्तो को पानी में उबालकर उस पानी से कुल्ला करने से दांत एवं मसुडो का दर्द दूर होता है और सूजन भी नहीं रहती  |    
Dental diseases and their treatment Dental diseases and their treatment Reviewed by Raj Kumar Sharma on जनवरी 31, 2019 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Roofoo के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.