गुरुवार, 24 जनवरी 2019

10 amazing health benefits of mango food

आम खाने के स्वाथ्य लाभ :

यह बात याद रखे हैं कि खाने से पहले आम को ठंडे पानी में डालकर रखना चाहिए अथवा फ्रिज में लगाकर ठंडा कर लें क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है | आम के साथ यदि ठंडा दूध पिया जाए तो यह और भी अधिक शक्ति देता है| कई लोग अपने अंदर मर्दाना कमजोरी महसूस करते हैं ऐसे लोगों के लिए आम लाभदायक सिद्ध हुआ है |

        

 health benefits of mango food




पेट के कीड़े के लिए :

पेट के कीड़े अक्सर बच्चों के पेट में ज्यादा पाए जाते हैं | इसके लिए आम की गुठली को भूनकर उसका चूर्ण तैयार कर लें जिस किसी के पेट में कीड़े हो उसे आधा चम्मच एक बार थोड़े से गर्म पानी के साथ सेवन करने से पेट के कीड़े मर जाते हैं | 



पेचिश -Dysentery:

जिस प्राणी को पेचिश की शिकायत हो उसे आम की गुठली को पीसकर छाछ में डालकर पिलाने से पेचिश ठीक हो जाते हैं |

टी .बी -T .B :

एक कप आम के रस में 60 , ग्राम शहद मिलाकर सुबह शाम दिन में दो बार देते रहें | यह कोर्स कम से कम दो महीने तक करने से टीवी रोग ठीक हो जाता है |

 

दिमागी कमजोरी अथवा सिर दर्द के लिए :

एक कप आम का रस चौथाई कप दूध ,एक चम्मच अदरक का रस , थोड़ी सी चीनी इन सबको मिलाकर सुबह खली पेट  पीते रहने से दिमाग की कमजोरी दूर हो जाती है | साथ ही जिन लोगों को पुराना सिर दर्द हो वह भी ठीक हो जाता है |

हैज़ा :

25 ग्राम आम की कोपलों को अच्छी तरह पीसकर एक गिलास पानी में उबाल लें जब पानी आधा रह जाए तो उसे नीचे उतार कर किसी बारीक़ छलनी से छान कर गर्म-गर्म दिन में दो बार पिलाने से  हैज़ा ठीक हो जाता है |

बवासीर एवं पेचश :

मीठा आम का रस आधा कप , मीठा ताज़ा दही 25 ग्राम और एक चम्मच अदरक का रस इन सबको मिलाकर पीने से पुरानी से पुरानी बवासीर दूर हो जाती है गर्म चीजों का परहेज जरूर करें |

पेट रोग और उपचार :

रेशे वाला आम अधिक गुणकारी होता है , इससे ही कब्ज दूर होती है | बस ऐसे ही आम लेकर इन्हें चूसें और ऊपर से दूध पीएंं इससे पेट की सारी अंतड़ियां नरम होकर साफ हो जाएंगी जिससे आपकी पाचन शक्ति बढ़ेगी |

सौंदर्य वर्धक :

निरंतर आम के सेवन से त्वचा का रंग साफ हो जाता है, चेहरे में निखार शरीर में चुस्ती यह सब आम चूसने के ही लाभ हैं |

मधुमेह :

आम और जामुन का रस बराबर मिलाकर निरंतर पीते रहने से मधुमेह रोग ठीक हो जाता है |

पथरी :

आम के ताज़ा पत्तों को छाया में सुखाकर बहुत बारीक पीस लें | इन्हें बारीक छलनी में छान कर 8 ग्राम हर रोज बासी पानी के साथ सेवन करने से पथरी रोग से मुक्ति मिल जाती है |

0 Comments:

एक टिप्पणी भेजें