गुरुवार, 31 जनवरी 2019

Simple home remedies for fever



मियादी बुखार :

मियादी बुखार हो जाने पर कुछ घरेलू नुस्खे आजमाए जो काफी प्रचलित है | और जल्द ही राहत पहुचाते है |


 ताप-मापक यंत्र Thermometer




  1. तेज बुखार आने पर माथे पर ठन्डे पानी की पट्टी रखने से बड़ा आराम मिलता है |
  2. बेल का फल ,इलायची के दाने दूध और पानी मिलाकर जब तक उबाले जब तक चौथाई अंश रह जाए इसे हल्का गुनगुना करके पिये इसे पिने से पुराना बुखार भी ठीक हो जाता है |
  3. टायफाइड रोग से पीड़ित व्यक्ति को दही बहुत लाभ पहुचाता है  इससे भूख शांत होती है और पाचन शक्ति भी ठीक रहती है |
  4. लौंग और चिरायता बराबर मात्रा मे पीसकर सेवन करने से कैसा भी बुखार हो उतर जाता है | 
  5. पुदीने की पत्ती, हींग ,नमक और अनारदाना को पिसकर चटनी बनाये इसका सेवन करने से बुखार जल्दी उतर जाता है |
  6. एक चम्मच त्रिफला चूर्ण और आधा चम्मच पीपल (पिप्पली या पीपर )का चूर्ण मिलाकर थोड़े शहद मे मिला ले इसका सुबह शाम सेवन करने से बुखार जल्दी उतर जाता है |

Dental diseases and their treatment

दांत एवं मुहं के रोग और उनके उपचार:

( Tooth and mouth disease and their home remedies)


भोजन करने के बाद या कुछ खाने के बाद अगर मुहं व दांत साफ़ ना किये जाए तो दांतों के ऊपर एक चिपचिपी पर्त जम जाती है  जिस पर जीवाणु उत्पन्न हो जाते है | यह जीवाणु दांतों के बीच में अटके भोजन के कणों के प्रोटीन पर जिंदा रहते है और हमारे मसुडोंं को खोखला कर देते है जिससे हमारे दांत कमजोर होकर जल्दी टूटने लगते है और मुहं से दुर्गन्ध आने लगती है इनसे बचने के लिए कुछ देसी नुस्खे है जिनसे आप अपने दांतों  एवं मुहं की बीमारियों को दूर कर सकते है |

Dental and mouth Diseases 

 


दांतों में ठंडा-गर्म लगने की समस्या को दूर करेंगे यह देसी और असरदार नुस्खे :>
  1. नीम की दातुन दांत साफ़ करने के लिए सबसे अच्छा साधन है दातुन नीम की पकी टहनी की होनी चाहिये नीम की दातुन से दांतों के कीड़े भी मर जाते है |
  2. आंवला दांतों से काट- काटकर चबाकर खाये इससे दांत मजबूत और साफ़ रहते है अगर दांतों में कीड़े लगे हो तो वह भी समाप्त हो जाते है |
  3. जायफल ,लौगं व छोटी इलायची के दाने पांच-पांच ग्राम इसमें थोडा सा कपूर मिला ले इन सब को गुलाबजल में पीसकर छोटी-छोटी गोली बना ले दिन में 3 से 4 बार एक-एक गोली चूसते रहने से मुहं से दुर्गन्ध नहीं आती |
  4. आंवला जलाकर उसमे थोडा सा सेंधा नमक मिलाये इसमें थोडा सरसों का तेल डालकर मंजन करने से पायरिया रोग दूर होता है |
  5. अमरुद के पत्ते को चबाने से दांतों का दर्द दूर होता है अमरुद के पत्तो को पानी में उबालकर उस पानी से कुल्ला करने से दांत एवं मसुडो का दर्द दूर होता है और सूजन भी नहीं रहती  |    

बुधवार, 30 जनवरी 2019

Effective Home Remedies for Diabetes

मधुमेह ( Diabetes) 

मधुमेह ( Diabetes)  अन्दर से रोगी को खोखला कर देता है और उसे पता भी नहीं चलता |अगर आप भी मधुमेह ( Diabetes) के रोगी है तो पूरी तरह सावधानी बरतेंं एवं नियमित समय पर डॉक्टरी जाँच अवश्य करवाएंं | हम जो घरेलू नुस्ख़े बता रहे है अगर आप उनका सेवन नियमित रुप से प्रतिदिन करेंगे तो निश्चित ही आपको लाभ होगा |

 Diabetes 

  नुस्ख़े :

  1. मेथी मधुमेह रोगियों के लिए बहुत फायदे मंद है अतः जितना हो सके खाने में मेथी का उपयोग ज्यादा से ज्यादा करे मेथी का साग बहुत फायदे मंद है अतः उसका सेवन करे |
  2. टमाटर का सलाद ,टमाटर की भाजी और टमाटर का रस पिने से मधुमेह ठीक होता है |
  3. जामुन के चार नर्म व हरे पत्ते 50 ग्राम पानी मे बारीक पीस ले फिर इसे छान कर पिये ऐसा नियमित 10 दिन तक करे मधुमेह दूर करने की यह उत्तम दवा है |
  4. अच्छी पकी हुई 50 ग्राम जामुन को 250 ग्राम उबलते हुए पानी में डालकर ढक कर रख दे फिर आधे घंटे बाद इसे मसलकर छान ले इसके तीन भाग करके दिन में तीन बार सेवन करने से रोगी के मूत्र में शर्करा बहुत कम हो जाती है ऐसा नियम पूर्वक कुछ समय करने से रोगी जल्दी ठीक हो जाता है |
  5. ताजा  बेलपत्र के पांच पत्ते और दस काली मिर्च ले दोनों को ठंडाई की तरह घोंट कर पीने से मधुमेह रोग से मुक्ति मिलती है |
  6. ताजे आंवले के रस में शहद मिलाकर पीने से मधुमेह रोग ठीक हो जाता है |
  7. मधुमेह रोग में करेला महा ओषधि है प्रातः करेले का रस पीने से या दिन में तीन बार 20 ग्राम करेले के रस में 100 ग्राम पानी मिलाकर पीने से लाभ होता है |
  8. करेले छाया में सुखा ले इनको पीस कर चूर्ण बना ले अब इस चूर्ण को 6 ग्राम दिन में दो बार देने से मधुमेह जल्द ही ठीक होता है |  

मंगलवार, 29 जनवरी 2019

Home made remedies for Woman's disease


स्त्रियों के रोग ( Women's disease):

कुछ गुप्त रोग होने पर स्त्रियों को बहुत कष्ट उठाने पड़ते है यदि आप भी ऐसे ही किसी रोग से ग्रस्त है तो लज्ज़ा व संकोच त्यागकर , इनका  इलाज़ करे एवं आवश्यकता होने पर मेडिकल चेकअप अवश्य करवाएं |

 Woman's disease 



  1. 30 ग्राम गाजर के बिज़ दरदरा पीस कर 500 ग्राम पानी मे उबाले जब पानी आधा रह जाए तो थोड़ी शक्कर डालकर पिने से महावारी खुलकर आती है |
  2. असगंध  का चूर्ण बना कर रख ले | 6 ग्राम चूर्ण मे,6 ग्राम मिश्री या चीनी मिलाकर  ठंडे पानी के साथ खाए |
  3. लाल गुडहल के फूलो को कांजी के साथ पीसकर पिने से माहवारी खुल जाती है |
  4. 2 तोला गुड और 4 माशा नीम की छाल को कूटकर 500 ग्राम पानी मे उबाले जब पानी आधा रह जाए तो गुनगुना कर पिए ऐसा करने से ऐसा करने से मासिक धर्म की रुकावट दूर होती है |
  5. मासिक धर्म होने के लिए गाजर के बिज़  को पानी में पीस कर पांच दिन तक पिने से  लाभ होगा |
  6. श्वेत प्रदर में अशोकत्वक॒  चूर्ण एवं मिश्री बराबर मात्रा में गाय के दूध के साथ लेने से लाभ होता है |

What are the correct ways to drink water

What are the correct ways to drink water?


पानी हमारे जीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण है ,इस बात से कोई भी अंजान नहीं है पानी हमारे शरीर के तापमान को नियंत्रित रखता है , हमारे शरीर के रक्त प्रवाह को गति देता है | एसी कई वजह से हमारे शरीर को पानी की जरुरत होती है | पानी हमारी पाचन क्रिया को दुरुस्त रखता है और शरीर में रक्त प्रवाह की गति को बढाता है पानी की आपूर्ति के लिए हम जल के साथ-साथ फल और सब्जियों का भी सेवन करते है | जिससे हमारे शरीर में पानी की कमी से कोई समस्या ना हो |


 drink water





पानी से करे अपने वजन को कम -

हमारे भोजन में ऐसे कई रसेदार और पानी युक्त खाद्य -पदार्थ शामिल है जिनका सेवन करने से हमारे शरीर में पानी की आपूर्ति होती है | जैसे - खीरा ,टमाटर , तरबूज , खरबूज  के आलावा पालक , गाजर , मूली , तोरई , जैसी सब्जियाँ हमारे शरीर में पानी की कमी दूर करती है | बैगन वजन कम करने में बहुत कारगार है | इसमें कैलोरीज कम होती है और फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है | अंगूर एक ऐसा फल है जिसे विश्व स्तर पर वजन कम करने के लिए सुपर फ़ूड माना गया है इसमें मौजूद एंटीआँँक्सीडेंट्स और फाइबर रक्त में शुगर के स्तर को नियंत्रित करते है |

रसीले खाद्य पदार्थ  खाये -

हमें प्रतिदिन 8 से 10 गिलास पानी पीना चाहिये | फल एवं सब्जियों से हमारे शरीर को 20 प्रतिशत जल की आपूर्ति हो जाती है रसीले खाद्य पदार्थ शरीर में पानी  के संतुलन को बनाने के साथ-साथ में खनिज लवण और नमक की भी आपूर्ति करते हैं पानी युक्त खाद्य पदार्थ वजनदार होते हैं लेकिन इनमें कैलोरीज नहीं होती उदाहरण के तौर पर अंगूर में 99% पानी होता है और आधे अंगूर के दाने में 23 कैलोरी होती है पानी वाली हरी सब्जियां फल शरीर में विटामिन और मिनरल्स द्वारा हमारे हृदय को स्वस्थ रखते हैं और इनमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट हमें असमय बूढ़ा होने से बचाते हैं  इनमें मौजूद फाइबर से लंबे समय तक भूख नहीं लगती और यह हमारी पाचन शक्ति को भी दुरुस्त रखते हैं इनमें लगभग सारे विटामिन और खनिज लवण होते हैं जो शरीर में पोषण के स्तर को बनाए रहते हैं |

बहुत कम ही लोग इस बात को जानते होंगे कि पानी हमारे मूड को सही रखता  है लेकिन विभिन्न अध्ययन यह बताते हैं शरीर में पानी की कमी होने से व्यक्ति के एनर्जी लेवल घटता  है जिससे उसका दिमाग  प्रभावित होता है और वह सोच नहीं पाता इसलिए शरीर में पानी की कमी नहीं होनी चाहिए व्यायाम करते समय, गर्मी में घर से बाहर निकलने के दौरान पानी पीते रहना चाहिए क्योंकि पानी हमारे मस्तिष्क को एनर्जी देता है जिससे शरीर की अन्य क्रियाएंं सुचारू रूप से चलती रहे पानी से ही मस्तिष्क के सोचने की क्षमता में वृद्धि होती है और इससे एकाग्रता और रचनात्मकता बढ़ती है |



गर्मी में खाये रसेदार फल-सब्जियाँ -

गाजर में लगभग 90% पानी होता है गाजर विटामिन A और C का मुख्य स्रोत है इसमें बीटा केरोटिन  पाई जाती है | जो कैंसर को दूर करती है |
स्ट्रॉबेरी में काफी मात्रा में पानी पाया जाता है इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स् दिल को स्वस्थ रखने में सहायक होते है  यह आँखों और त्वचा के स्वास्थ्य के लिए अच्छी होती है यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है |
शिमला मिर्च एक ऐसी हरी सब्जी है जिसमें सबसे ज्यादा पानी होता है इसमें विटामिन सी भी काफी मात्रा में पाया जाता है |
पालक शरीर के लिए ज्यादा फायदेमंद होती है हरी पत्तेदार इस सब्जी में प्रोटीन फाइबर और मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बढ़ाने वाले फोलेर्ट  होते हैं

सोमवार, 28 जनवरी 2019

How to feed green vegetables to children

                  

                  

बच्चोंं को हरी सब्जियांं अवश्य खिलाए -



 children eating


डॉक्टर आमतौर पर बच्चोंं के दो साल का होने पर उनके माँ -बाप को यही सलाह देते है | कि बच्चोंं को दिन में दो से तीन बार सब्जी अवश्य खिलाए | किन्तु डॉक्टर अक्सर यह बताना भूल जाते है कि कितनी मात्रा में बच्चो को सब्जी खिलाई जाए ‍‍‌| यहाँ माता -पिता को यह बात जान लेना बहुत जरुरी है कि जब बच्चा ठोस आहार लेना शुरू करता है तो शुरू में बच्चो को ठोस आहार की बहुत कम मात्रा देनी चाहिए और धीरे -धीरे इस मात्रा को बढ़ाते रहना चाहिए जब तक बच्चा उस आहार को रूचि लेकर खाये और उसे कोई परेशानी ना महसूस हो |



दुनिया के विभिन्न परवरिश केन्द्रों में बच्चोंं के खान - पान को लेकर हुए तमाम प्रयोगों से यह साबित हो चूका है कि उन्हें अधिक से अधिक फल और सब्जियांं खिलाने की कोशिश की जानी चाहिए | ऐसा करने से जब बच्चें बड़े होते है | तब वह ह्रदय रोग और कैंसर जैसे खतरों से दूर रहते है | बच्चोंं को अधिक से अधिक मात्रा में हरी सब्जियांं खिलानी चाहिये | इससे उन्हें विटामिन और खनिज लवण भरपूर मात्रा में मिल जाते है हरी सब्जियों में बच्चो के विकास हेतु तमाम आवश्यक तत्व प्रचुर मात्रा में पाये जाते है | मसलन - शिमला मिर्च ,टमाटर ,बंदगोभी और अंकुरित अनाजोंं में विटामिन सी काफी मात्रा में पाई जाती है |इसी तरह शकरकंद ,मटर ,गाजर ,मक्का और कद्दू  में तमाम अलग - अलग पोषक तत्व मौजूद रहते है |
    बच्चोंं को बहुत छोटे में ही सभी तरह की सब्जियों के स्वाद से परिचित कराया जाना चाहिये इसके लिए कुछ उपाए करने जरुरी होते है | सबसे अच्छा और सरल उपाए यह है कि भोजन को सुन्दर बनाया जाए जिससे कि वह देखने में अच्छा लगे डॉक्टर अक्सर यही सलाह देते है कि बच्चो को  instant ready to eat food जैसी चीजो से बचाए लेकिन यह महज ज्ञान की बात है बच्चो को इन बजारू चीजो से तभी बचाया जा सकता है जब उन्हें उनकी रूचि का विविधता पूर्ण भोजन बनाया जाए जो स्वादिष्ट होने के साथ -साथ दिखने में आकर्षक हो | इसी तरीके से बच्चों को ज्यादा से ज्यादा सब्जियां खानी सिखाई जा सकती है |
   सब्जियों को कच्चा ही दिया जाए या उन्हें पकाया जाए इस सवाल पर भी बहुत गफलत रहती है दरअसल सब्जियों को दोनों ही  तरीको से खाया जा सकता है | और यह दोनों ही तरीके उन्हें भरपूर पोषण देते है वैसे कुछ मामलो में कच्ची सब्जियां ज्यादा पोषण से भरपूर होती है इनसे पाचन शक्ति ठीक रहती है | शरीर के तंतुओ के निर्माण की प्रक्रिया भी सहज रहती है |जबकि पकी सब्जियाँ खाने से कैंसर से बचाव में सहायता मिलती है |    कच्चे टमाटर में लाइकोपेन नामक तत्व पाया जाता है | पकाने पर यह तत्व आसानी से शरीर में घुल जाता है | केचअप ,टमाटर की चटनी ,या टमाटर के जूस में यह काफी मात्रा में पाया जाता है | बिटाकैरोटीन नामक तत्व से शरीर में कैंसररोधी क्षमता पैदा होती है | उबली हुई गाजर में यह काफी मात्रा में पाया जाता है | हरी पत्तेदार सब्जियांं , पालक और फूलगोभी में पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व पाये जाते है |

ज्यादातर बच्चे कड़वे और कच्चे प्याज खाना पसंद नहीं करते इसलिए उन्हें प्याज को अच्छी तरह पका कर खिलाना चाहिये जिसमे कैंसररोधी तत्व क्वेरिसिटन पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है |सवाल है माताएं कैसे जाने की बच्चों द्वारा खाई जाने वाली सब्जियां सच में पोषक तत्वों से भरपूर है वास्तव में इसके लिए सब्जियों के पकाने के तरीके को  गंभीरता से समझना चाहिए क्योंकि अगर पकाने  का  तरीका सही ना हो तो इन सब्जियों में अधिकतर पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं लेकिन अगर सावधानी और सजगता से इन्हें बनाया जाए तो इनको 75 से 90 प्रतिशत तक सुरक्षित रखा जा सकता है | इससे सब्जियों में मौजूद विटामिन ,खनिज लवण सुरक्षित रहते है और हमारे शरीर की जरूरतों को पूरा करते है | यह जानना आवश्यक है कि विटामिन बी और सी पानी में घुलनशील होते है यह ज्यादा तापमान पर नष्ट हो जाते है | इसलिए विटामिन बी और सी युक्त खाद्य पदार्थ जब भी पकाये जाए तो उन्हें कम पानी में और कम समय तक पकाया जाए | इससे उनमें मौजूद तत्वों के नष्ट होने की संभावना नहीं होती
  पोषक तत्वों को सुरक्षित रखने के लिये खाद्य पदार्थो को या तो भाप में पकाए या फिर कम तेल में तलकर पकाए इसी तरह उन्हें कम पानी में उबाला जाना चाहिये | साथ ही पानी में अच्छी तरह उबाल आने पर ही उसमे सब्जियांं डालें |सब्जियों को उबालकर उनका सूप तैयार करके या उन्हें तरल रूप में पकाकर उसके पोषक तत्वों को सुरक्षित रखा जा सकता है | पालक , आलू , फलियों में मौजूद आयरन की मात्रा को बढाने के लिए उन्हें लोहे की कडाही में पकाये |

  भोजन में विटामिन सी की मात्रा बढाने के लिए पकी सब्जियों में नींबू या टमाटर का रस डालकर पकाए | इससे आयरन युक्त सब्जियों में मौजूद आयरन भी सुरक्षित रहता है | सब्जियों को ताज़ा और सुरक्षित रखने के लिए उन्हें एयरटाइट डिब्बे में बंद करके फ्रिज में रखे |

रविवार, 27 जनवरी 2019

Home made Remedies for Waist and Back Pain

कमर दर्द (back ache)

कमर दर्द हो तो बहुत परेशानी होती है उठना ,बैठना ,चलना ,फिरना इन सब से हम लाचार हो जाते है  अगर आप भी कमर दर्द से परेशान है और हर तरह की दवा ,मलहम ,क्रीम ,लगाकर परेशान हो गए है तो कुछ देसी नुस्खे अवश्य अपनाये |



 Back Pain 



  1. असगंध के पत्ते पर अच्छी तरह तेल लगाये फिर उन्हें गर्म कर ले गर्म करने के बाद दर्द वाले स्थान पर अच्छी तरह बांध ले ऐसा तीन चार दिन करने से दर्द चला जायेगा |
  2. गेहूं की रोटी एक तरफ से सेंक ले और दूसरी तरफ से कच्ची छोड़ दे जिस तरफ से रोटी कच्ची है उस तरफ तिल का तेल अच्छी तरह से लगा कर दर्द वाली जगह बांध ले ऐसा करने से दर्द नहीं रहेगा |
  3. जायफल  को अच्छी तरह से घिसकर तिल के तेल मे मिलाकर गर्म करे फिर ठंडा होने पर कमर की मालिश से दर्द मे आराम मिलेगा |
  4. सोंठ को दरदरा पीस कर दो कप पानी मे जब तक उबाले की पानी आधा रह जाए अब इसे उतारकर ठंडा कर ले अब इसमें दो चम्मच अरंडी का तेल मिला ले अब सोने से पहले इस काडे को कमर पर लगाए दर्द मे आराम मिलेगा |
  5. सोंठ को पीस कर उसका चूर्ण बना ले अब इस चूर्ण में नारियल का तेल मिला ले अब इसे गर्म करके कमर की मालिश करे दर्द मे आराम मिलेगा |

best home made remedies of headache

सिर दर्द :

सिर दर्द का कारण चाहे जो हो पर जब सिर दर्द होता है तो बहुत बड़ी समस्या बन जाती है अगर समय रहते ही इसका निवारण हो जाए तो ठीक है अगर न हो तो जीवन मे नीरसता आ जाती है  इसके निवारण के लिये कुछ घरेलु नुस्खे है आप इन्हे अवश्य आजमाएं | 

 headache




  1. सिर दर्द के समय नाक के नथुनों में एक एक बूंद शहद डालकर ऊपर की और सांस ले ऐसा करने से सिर दर्द मे तुरंत लाभ मिलता है 
  2. 5 ग्राम काली मिर्च चबाकर खाये उसके बाद दो चम्मच देसी घी पी ले ऐसा करने से आधा शीशी ( Migraine) के दर्द मे आराम मिलता है 
  3. दाल चीनी को पानी में डाल कर बारीक पीस ले फिर इस लेप की माथे पर मालिश करे ऐसा करने से सिर दर्द मे आराम मिलता है 
  4. पिपरमिंट की चाय सिर दर्द के लिए बहुत लाभ दायक है पिपरमिंट मे ऐसे तत्व पाये जाते है जो मांसपेशियों की जकडन को दूर करते है और सिर दर्द से छुटकारा दिलाते है अतः सिर दर्द होते ही एक कप पिपरमिंट चाय पी ले 
  5. रोज सुबह एक सेब पर काला नमक लगा कर खाने से पुराने से पुराना सिर दर्द भी गायब हो जाता है यह प्रयोग 20 दिन तक करे 
  6. 1-2 बूंद दालचीनी का तेल  सिर पर लगाकर मलने से सर्दी से होने वाला सिर दर्द ठीक हो जाता है 
  7. तुलसी की छोटी सी बौर लेकर छाया में सुखा कर बारीक पीस ले जब भी सिर मे दर्द हो 2 ग्राम चूर्ण शहद मे मिला कर चाट ले सर दर्द गायब हो जायेगा 
  8. आधा शीशी (Migraine) का दर्द और अनिद्रा में नियमित रूप से सोते समय सिर व पैर के तलुओं की देशी घी से मालिश करे निश्चित आराम मिलेगा

शनिवार, 26 जनवरी 2019

these 5 prescriptions get relief in burn



यदि कोई आग ,पानी ,अथवा किसी तरल पद्धार्थ से जल जाए तो हमें क्या करना चाहिए ?



दि कोई प्राणी किसी बड़ी घटना का शिकार हुआ है यानि ज्यादा जल गया है तो उसे तुरंत हॉस्पिटल ले जाना चाहिये क्युकी यह एक पुलिस केस है यदि इसमें आपकी गलती से जले हुए व्यक्ति (Burnt person)को कुछ हो जाता है तोआप कानून की चपेट में आ सकते है |


अगर कोई व्यक्ति मामूली तौर पर जला है तो उसके लिए कुछ घरेलु नुस्खे है जिन्हें उपयोग करने से जलन भी नहीं होगी और जलने का निशान भी नहीं रहेगा | 


 Fire


  1. जले हुए अंग पर गाय का गोबर लगा देने से तुरंत आराम मिलता है और निशाँन  भी नहीं रहता |
  2. अमलतास के पत्तो को पानी में पीसकर जले हुए स्थान पर लगाने से आराम मिलता है और जख्म भी जल्दी भर जाता है |
  3. जले हुए स्थान पर सरसों का तेल लगाने से राहत  मिलती है |
  4. जले हुए स्थान पर नारियल का तेल लगाने से भी आराम मिलता है |
  5. बरगद के पत्तो को दही में पीसकर जले हुए स्थान पर लगाने से जख्म  जल्दी भर जाता है और निशाँन भी नहीं रहते |
  6. मेथी के दानो को पानी पीसकर जले हुए स्थान पर लेप करने से फफोले नहीं पड़ते और जख्म  जल्दी भर जाता है |
  7. जले हुए स्थान पर गुलर के पत्तो को पीसकर लगाने से जलन नहीं होती फफोले और निशान भी नहीं पड़ते 
  8. जले हुए स्थान पर कच्चे आलू को पीसकर  लगाने से आराम मिलता है |

5 ways remove kidney stone in hindi


गुर्दे की पथरी : Kidney Stone 

गुर्दे में अगर पथरी हो जाए तो जीवन उथल पुथल हो जाता है आइये जानते है इससे निजात पाने के कुछ घरेलू उपाय |                             

 Kidney




  1. 50. ग्राम पानी मे  6. ग्राम पपीते की जड़ को पीस कर  मिलाए ,21 दिन तक सुबह और शाम इसका सेवन करने से पथरी गल कर मल मूत्र के द्वारा निकल जाती है 
  2. चन्दन के तेल की 5 बूंदों को बताशे में भरकर दिन मे चार बार खाने से पथरी में जल्द राहत मिलती है 
  3. 10. अंगूर के ताज़े पत्ते आधा नींबू का रस इन दोनों को अच्छी तरह मिलाकर खाने से पथरी जल्दी गल जाती है 
  4. 250.ग्राम छाछ (मठ्ठा ) मे  3 .ग्राम फिटकरी का फूला मिलाकर प्रतिदिन 2 बार सेवन करने से पथरी जल्दी गल जाती है 
  5. 20 .ग्राम कुलथी को 250 .ग्राम पानी में उबाले जब आधा पानी रह जाए तो इसे छान ले और हल्का गुनगुना हो जाने पर रोगी को पिला दे 25 से 30 दिन यह प्रयोग करे पथरी गल कर निकल जायेगी   

गुरुवार, 24 जनवरी 2019

measles disease and its Treatment

शीतला माता रोग -सावधानी और परहेज़ ही उपचार :

 दोस्तों हर घर में बच्चों , बुजुर्गों अथवा युवाओं को शीतला माता का रोग (खसरा) अवश्य ही होता है | इस रोग से शायद ही कोई घर अछूता हो | इस रोग का इलाज सावधानी ही है | इस रोग में बहुत ही परहेज़ से रहना पड़ता है | और बहुत सावधानी बरतनी पड़ती हैं |

 azadirachta indica


रोग की पहचान कैसे करे :

इस रोग की पहचान यही है की सबसे पहले रोगी को बुखार आता है , इस बुखार में रोगी को कभी गर्मी तो कभी सर्दी लगती है |
रोगी के शरीर पर चेचक के आकार की फुंसियांं सी निकलने लगती है , जो कुछ ही दिनों में बड़ी -बड़ी हो जाती है | 
सात दिनों तक निकलने वाली इन फुंसियों को ही शीतला माता कहते है |

उपचार : 

शीतला माता जब अपने पूर्ण रूप से प्रकट हो जाए तब रोगी के चरपाई के निचे (कंडो) उपलों की राख बिछा दे ,
और नीम की पत्तियों सहित टहनी से रोगी के कमरे की हवा करते रहे जिससे कोई  मक्खी, मच्छर रोगी के कमरे में ना रहे | रोगी को ऐसी जगह रखें जहां शुद्ध एवं ठंडी हवा हो | रोगी को ठंडा पानी पिलाते रहे | 
ठंडे पानी में हल्दी घोल कर पीने से बैचेनी नहीं होती है |

परहेज़ -बचाव -सावधानी :

रोगी के आस-पास किसी भी तरह की कोई गंदी वस्तु ना हो | घर में कोई स्त्री मासिक धर्म से हो तो उसे रोगी के पास ना जाने दे |
नीम के पत्ते ,तुलसी के पत्ते ,गंगाजल हमेशा रोगी के पास रखे, और सफाई का विशेष ध्यान रखे |
घर में मांस ,शराब और किसी भी तरह के नशीले पदार्थो का सेवन ना करे और ना किसी को करने दे |
गंदी एवं अश्लील बाते घर में अथवा रोगी के पास ना करे |    

men's secret disease and their treatment

पुरुषों के रोग (Men's disease)

 महिलाओ की तरह  पुरुषों की भी कुछ ऐसी समस्याएं होती है जिन्हें वह किसी के साथ share  करने से हिचकिचाते है और अन्दर ही अन्दर घुटते रहते है लेकिन ऐसी बातें छुपानी नहीं चाहिये और तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिये क्योकि यह शरीर आपका है और इसकी देखभाल आप ही को करनी है ऐसी  ही कुछ समस्याओं के लिये देसी नुस्खे है अगर आप भी किसी ऐसी समस्या से परेशान है तो इन्हें जरुर आजमायें |


  men's secret disease





  1. इमली के बिज़ 125 ग्राम ,400 ग्राम दूध मे भिगोकर रखे | दो दिन बाद छिलका उतारकर साफ़ करके पीस ले 5  ग्राम सुबह 5 ग्राम शाम को पानी के साथ लेने से धातु रोग ठीक हो जाता है |
  2. स्वप्न दोष के लिय आधा रत्ती से दो रत्ती की मात्रा मे मोती की भस्म ,गुलाब शरबत या शरबत खस में मिलाकर सेवन करने से भीतरी गर्मी शांत होती है और स्वप्नदोष भी नहीं होता | 
  3. आंवले का मुरब्बा पानी से धोकर एक नग प्रतिदिन चबाचबा कर खाये या 20 ग्राम सूखा पिसा हुआ आंवला आधा गिलास पानी मे रात को भिगो दे सुबह छान कर 1 ग्राम पिसी हल्दी डालकर पीने से धातु रोग में लाभ होगा |
  4. अंदरूनी शक्ति के लिये सूखे आंवले का 5 ग्राम चूर्ण प्रतिदिन दूध के साथ खाने से वीर्य अधिक |शक्तिशाली बनता है, शरीर मे ताकत आ जाती है, रक्त शुद्ध होता है तथा सभी गुप्त रोग जैसे -स्वप्नदोष ,शीघ्रपतन आदि का अंत होता है |
  5. कंधारी अनार का छिलका सुखा कर पीस ले 4 ग्राम सुबह और 4 ग्राम शाम को पानी के साथ खाने से स्वप्नदोष ठीक होता है |
  6. रात को सोने से पहले हाथ पैर धोकर लहसुन की एक कली दांतों से चबाकर निगल जाए ऐसा करने से स्वप्नदोष नहीं होता
  7. तुलसी के बीज या जड़ का चूर्ण 2 ग्राम ,पान मे रखकर खाने से शीघ्रपतन नहीं होता 

6 amazing health benefits of honey

शहद है, रोगनाशक दवा :

शहद एक श्रेष्ठ औषधि है | जब बच्चा पैदा होता है तो डॉक्टर उसे शहद चटाने की सलाह देते हैं | वैसे तो आमतौर पर शहद बाजारों में मिल जाता है, किंतु वह शुद्ध होता है ? यह कह पाना मुश्किल है | शुद्ध शहद अत्यंत लाभकारी दवा है |

 healthy honey 


शहद से करे मोटापा कम :

मोटापे की शिकायत आज तेजी से बढ़ रही है | इसका मुख्य कारण है हमारा खान-पान और व्यस्त जीवन जिसकी वजह से हम अपने स्वाथ्य पर ध्यान नहीं दे पाते, कुछ लोगों का मोटापे के कारण उठना बैठना दूभर हो जाता है|  ऐसे व्यक्ति प्रतिदिन सुबह हल्के गर्म पानी में एक चम्मच शहद और आधा नींबू का रस मिलाकर पीएं मोटापा कम होगा |

खांसी में शहद का उपयोग :

जब खांसी आती है ,तो सीने में दर्द भी होता है | रोगी  बहुत परेशान हो जाता है | ऐसे में रोगी को अदरक, तुलसी का रस, मुलहठी का चूर्ण, शहद के साथ मिलाकर चाटने से खांसी में तुरंन्त लाभ मिलता है | यह खांसी की रामबाण औषधि है |

जुकाम :

शहद में मिश्री और मेहंदी के पत्ते मिलाकर सुबह-शाम सेवन करे जुकाम जड़ से चला जायेगा |

श्वेत प्रदर :

 यह स्त्रियों की एक खतरनाक बीमारी है | जो उन्हें दिन-प्रतिदिन कमजोर बनाती है, ऐसी स्त्रियां जिन्हें श्वेत प्रदर की बीमारी हो , वह तुलसी के पत्तों का रस शहद में मिलाकर प्रात:काल नियमित रूप से सेवन करे | श्वेत प्रदर रोग ठीक होगा, और धीरे-धीरे तंदुरुस्ती वापस आएगी |

कब्ज :

एक गिलास हल्के गर्म पानी में एक चम्मच नींबू का रस, एक चम्मच अदरक का रस एवं दो चम्मच शहद मिलाकर पीने से कब्ज नहीं होती |

खुजली :

20 ग्राम शहद ठंडे पानी में मिलाकर प्रतिदिन पिये | दाद, खाज, खुजली आदि सभी चर्म रोगों से मुक्ति मिलेगी |

6 amazing benefits of eating grapes

आयुर्वेद में अंगूर का महत्व :

अंगूर खाते तो बहुत लोग हैं परंतु उसके गुणों के बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं क्योंकि अंगूर खाने से जितने लाभ हैं उतने शायद ही किसी और फल को खाने से होते हैं | अंगूर ही एकमात्र ऐसा फल है जो खाते ही खून में मिल जाता है और हमें शक्ति एवं उर्जा देता है | जो लोग अंगूर को भोजन के रूप में खाते हैं वह लोग कैंसर तथा क्षय जैसे रोगों से बच निकलते है | अब आप स्वयं ही अंदाजा लगा सकते हैं कि अंगूर कितना गुणकारी फल है |

 healthy grapes 





गठिया :

निरंतर अंगूर का प्रयोग शरीर से उन लक्षणों को निकाल देता है, जिनके कारण गठिया के कीटाणु शरीर के अंदर बने रहते हैं | इसके लिए हर रोज सुबह उठकर अंगूर खाने चाहिए |

हृदय की पीड़ा एवं धड़कन :

                यदि रोगी अंगूर खा कर ही ठीक रहे तो अधिक अच्छा है ऐसा करने से उन्हें जल्दी आराम मिलेगा |
जैसे ही दिल में दर्द हो या धड़कन तेज हो जाए तो उसी समय अंगूर का ताजा रस पी लें दर्द बंद हो जाएगा और धड़कन भी सामान्य रूप से चलने लगेगी |

बच्चो के दांत निकलने पर :

जिस समय बच्चों के दांत आने आरंभ होते हैं | उस समय बच्चों को अधिक कष्ट होता है यही नहीं उन्हें अनेक रोग भी लग जाते हैं | इसलिए जैसे ही बच्चो के दांत निकलने लगे तो उन्हें अंगूर के रस के दो दो चम्मच दिन में तीन चार बार देते रहें | 

औरतों के मासिक धर्म में गड़बड़ और सफेद पानी का आना :

औरतों के यह दोनों लोग बहुत कष्टदायक माने जाते हैं | इसलिए आयुर्वेद के गुणों का लाभ उठाएं और अपने इस कष्ट से मुक्त हो , ऐसी औरतों को सौ ग्राम अंगूर हर रोज दिन में तीन बार खिलाते रहे इससे उनका मासिक धर्म  ठीक हो जाएगा और सफ़ेद पानी की परेशानी भी दूर होगी |

दमा , खांसी :

दमा एवं खांसी के रोगियों के लिए अंगूर बहुत ही गुणकारी हैं | यदि साथ में खून भी आता हों तो घबराने की जरूरत नहीं वह भी अंगूर खाने से ठीक हो जाएगा | बस नियमित अंगूर का सेवन करते रहे |

चेचक :

चेचक के रोगी को अंगूरों को गर्म पानी में धोकर खाना चाहिए , इससे लाभ होगा | यदि अंगूर ना मिले तो उनके लिए बाजार से मुनक्का ले ले उसे पानी में उबालकर खाने से लाभ होता है

Does Tomato contain Vitamins?

आयुर्वेद में टमाटर का महत्व :

यह सब्ज़ी भी है और फल भी इसकी तासीर न गर्म है और न ठंडी |  इसलिए हर मौसम में यह उपलब्ध है | और हम हर मौसम में इसे खा सकते है |

 health with tomato

विटामिनों का खजाना है टमाटर:

"डिजाइनर एंड डायट" के लेखक एस.जे. गजधर ने लिखा है | कि टमाटर में विटामिन( A.B.C) इतनी अधिक मात्रा में होते हैं कि इतने विटामिन संतरे और अंगूर में भी नहीं होते और कमाल की बात यह भी है कि इसके विटामिन गर्म होने पर नष्ट भी नहीं होते है |
यही कारण है कि हमारे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए टमाटर का सबसे बड़ा योगदान माना जाता है | टमाटर में विटामिन A  सबसे अधिक मात्रा में पाया जाता हैं | इसलिए जो लोग इसे कच्चा ही खाते हैं उनके लिए अत्यंत लाभदायक है |

हड्डियों और दांतों की मजबूती :

टमाटर के अंदर चूने की मात्रा अधिक होती है वैसे आपकी जानकारी के लिए यह बता दूं कि-
100  ग्राम टमाटर में     0.9  प्रोटीन
बसा                            0.2  ग्राम बसा 
कार्बोहाइड्रेट                3 .6 ग्राम 
पोषक तत्व पाए जाते है , प्रति 100 ग्राम टमाटर से हमें 20 कैलरी ऊर्जा प्राप्त होती है |

चूना :

चूना हमारे स्वास्थ्य के लिए अति आवश्यक है यह टमाटर में अन्य सब्जियों और फलों से कहीं अधिक होते हैं इसलिए टमाटर हड्डियों दांतों को मजबूत करने के लिए बहुत जरूरी है  |
जो लोग अपनी हड्डियों को मजबूत बनाए रखना चाहते हैं उन्हें चाहिए कि टमाटरों का सेवन अधिक से अधिक करे | जो लोग टमाटरो का सेवन नहीं करते उनके स्वास्थ्य के बिगड़ने और कमजोर होने का डर बना रहता है |

कब्ज़ में टमाटर के लाभ :

हर रोज कम से कम एक कच्चा टमाटर खाने से पुरानी से पुरानी कब्ज़ भी चली जाती है |

 मुंह के छाले :

 जिन लोगों के मुंह में बार-बार छाले हो जाते हैं ,उन्हें कच्चे टमाटर अधिक से अधिक मात्रा में खाने चाहिए मुंह के   छालों के लिए टमाटर से बढ़िया और कोई औषधि नहीं है |
 टमाटर का रस पानी में मिलाकर कुल्ले करने से भी मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं | 

वजन कम करें और मोटापा घटाएं :

मोटापा कम करने में टमाटर का बड़ा योगदान माना जाता है, क्योंकि इसके अंदर शरीर के अंदर से विजातीय द्रव्य पदार्थ और आंतों में फसा खाना शरीर से बाहर निकालने की शक्ति टमाटर में खूब होती है | यदि कोई प्राणी नमक प्याज के साथ नींबू निचोड़कर टमाटर खाता है, तो उसका मोटापा कम हो जाता है |

चर्म रोग :

टमाटर खट्टा होता है, इसकी खटाई खून साफ करने का कार्य करती है | रक्त  को साफ करने के लिए टमाटर अकेले ही खाना चाहिए यानी कोई भी चीज इसके साथ मिलाकर नहीं खानी चाहिए | कुछ सप्ताह तक टमाटर का रस पीने से हर प्रकार के चर्म रोग ठीक हो जाते हैं |

खुजली :

एक चम्मच टमाटर का रस, दो चम्मच नारियल का तेल मिलाकर मालिश करें इसके पश्चात गर्म पानी से नहा लें खुजली दूर हो जाएगी |

पोलियो :

एक गिलास टमाटर का जूस रोज पीने से पोलियो जैसा भयंकर रोग भी दूर हो जाता है |

शारीरिक व मानसिक कमजोरी :

जो लोग अपने आप को कमजोर महसूस करते हैं उन्हें एक गिलास टमाटर के जूस में दो चम्मच शहद मिलाकर पीना चाहिए |

10 amazing health benefits of mango food

आम खाने के स्वाथ्य लाभ :

यह बात याद रखे हैं कि खाने से पहले आम को ठंडे पानी में डालकर रखना चाहिए अथवा फ्रिज में लगाकर ठंडा कर लें क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है | आम के साथ यदि ठंडा दूध पिया जाए तो यह और भी अधिक शक्ति देता है| कई लोग अपने अंदर मर्दाना कमजोरी महसूस करते हैं ऐसे लोगों के लिए आम लाभदायक सिद्ध हुआ है |

        

 health benefits of mango food




पेट के कीड़े के लिए :

पेट के कीड़े अक्सर बच्चों के पेट में ज्यादा पाए जाते हैं | इसके लिए आम की गुठली को भूनकर उसका चूर्ण तैयार कर लें जिस किसी के पेट में कीड़े हो उसे आधा चम्मच एक बार थोड़े से गर्म पानी के साथ सेवन करने से पेट के कीड़े मर जाते हैं | 



पेचिश -Dysentery:

जिस प्राणी को पेचिश की शिकायत हो उसे आम की गुठली को पीसकर छाछ में डालकर पिलाने से पेचिश ठीक हो जाते हैं |

टी .बी -T .B :

एक कप आम के रस में 60 , ग्राम शहद मिलाकर सुबह शाम दिन में दो बार देते रहें | यह कोर्स कम से कम दो महीने तक करने से टीवी रोग ठीक हो जाता है |

 

दिमागी कमजोरी अथवा सिर दर्द के लिए :

एक कप आम का रस चौथाई कप दूध ,एक चम्मच अदरक का रस , थोड़ी सी चीनी इन सबको मिलाकर सुबह खली पेट  पीते रहने से दिमाग की कमजोरी दूर हो जाती है | साथ ही जिन लोगों को पुराना सिर दर्द हो वह भी ठीक हो जाता है |

हैज़ा :

25 ग्राम आम की कोपलों को अच्छी तरह पीसकर एक गिलास पानी में उबाल लें जब पानी आधा रह जाए तो उसे नीचे उतार कर किसी बारीक़ छलनी से छान कर गर्म-गर्म दिन में दो बार पिलाने से  हैज़ा ठीक हो जाता है |

बवासीर एवं पेचश :

मीठा आम का रस आधा कप , मीठा ताज़ा दही 25 ग्राम और एक चम्मच अदरक का रस इन सबको मिलाकर पीने से पुरानी से पुरानी बवासीर दूर हो जाती है गर्म चीजों का परहेज जरूर करें |

पेट रोग और उपचार :

रेशे वाला आम अधिक गुणकारी होता है , इससे ही कब्ज दूर होती है | बस ऐसे ही आम लेकर इन्हें चूसें और ऊपर से दूध पीएंं इससे पेट की सारी अंतड़ियां नरम होकर साफ हो जाएंगी जिससे आपकी पाचन शक्ति बढ़ेगी |

सौंदर्य वर्धक :

निरंतर आम के सेवन से त्वचा का रंग साफ हो जाता है, चेहरे में निखार शरीर में चुस्ती यह सब आम चूसने के ही लाभ हैं |

मधुमेह :

आम और जामुन का रस बराबर मिलाकर निरंतर पीते रहने से मधुमेह रोग ठीक हो जाता है |

पथरी :

आम के ताज़ा पत्तों को छाया में सुखाकर बहुत बारीक पीस लें | इन्हें बारीक छलनी में छान कर 8 ग्राम हर रोज बासी पानी के साथ सेवन करने से पथरी रोग से मुक्ति मिल जाती है |

गुरुवार, 17 जनवरी 2019

Yoga has amazing health benefits



 Daily 3 Minute Yoga Can  Your Health

 

 Yoga 




भागती दौड़ती जिंदगी में आपको अपने लिए वक्‍त नहीं मिलता और ऐसे में इसका खामियाजा आपकी सेहत को भुगतना पड़ सकता है। लेकिन, अगर आप से कहा जाए कि आप इस सबके बीच भी आप योग कर सकते हैं तो आपको हैरानी होगी। हालांकि, अधिकतर लोग यही सोचते हैं कि एक घंटे से कम समय के लिए योग करने का कोई फायदा नहीं। लेकिन, हकीकत में अगर आप केवल कुछ मिनट ही योग कर लें आपको काफी फायदा हो सकता है। 

 सबसे अच्‍छी बात यह है कि कुछ समय के लिए ही योग करने से आपको काफी फायदा होता है। और इसे अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में फिट करने में कोई परेशानी भी नहीं होती। आप इसे कहीं भी कर सकते हैं। घर, दफ्तर या फिर सफर के दौरान भी योग कर आप इसका फायदा उठा सकते हैं। इससे आपकी सेहत को काफी लाभ मिलता है। 


आप अपनी जिंदगी में योग को कभी भी शामिल कर सकते हैं। इसके कई तरीके होते हैं। सामान्‍य समझी जाने वाली स्‍ट्रेचिंग के जरिये भी आप सेहत बना सकते हैं। स्‍ट्रेचिंग भी योग का ही एक रूप है और इससे आपके शरीर को बेकार की जकड़न से छुटकारा मिलता है।

अगर आप थके हुए हैं अथवा बहुत अधिक तनाव में हैं तो योग के एक दो आसान आपको इससे निजात दिला सकते हैं और साथ ही आपकी सेहत को एक बार फिर दुरुस्‍त कर सकते हैं। कुछ देर योग करने से ही आप पूरा दिन सेहतमंद और शांत रहते हैं। साथ ही आपकी ऊर्जा का स्‍तर भी काफी अधिक होता है। आपकी एकाग्रता बढ़ी है और आप चीजों को बेहतर तरीके से कर पाते हैं। इससे आपका दिल भी सेहतमंद रहता है और दिमाग की कार्यक्षमता में भी इजाफा होता है |


 yoga 


                                                                       

दो मिनट के योग

कुछ ही देर में जो योगासन आपकी सेहत को सुधार सकते हैं। आप इस दौरान सूर्य नमस्‍कार कर सकते हैं। सूर्य नमस्‍कार में 12 आसन होते हैं, जिनसे आपके पूरे शरीर का व्‍यायाम हो जाता है। इसके साथ ही आप कमर और कूल्‍हे की स्‍ट्रेचिंग भी कर सकते हैं। हालांकि सूर्य नमस्‍कार आप यात्रा के दौरान नहीं कर सकते हैं, लेकिन स्‍ट्रेचिंग तो की ही जा सकती है। ऑफिस और यात्रा के दौरान आपको लंबे समय तक एक ही जगह पर बैठना पड़ता है, ऐसे में मांसपेशियों में अकड़न आ जाती है। स्ट्रेचिंग से यह अकड़न दूर होती है और साथ ही साथ मांसपेशियों के चोटिल होने का खतरा भी कम हो जाता है।

 

Amazing power in basil

भारतीय परंपरा में तुलसी एक अत्यंत ही पवित्र पौधा है | भारतीय पुरुष एवं स्त्रियां इसकी पूजा 'तुलसी माता' कहकर करते हैं | औषधीय गुणों से परिपूर्ण तुलसी हमारे दैनिक जीवन में अत्यंत उपयोगी है |

 Basil plant




आइए जानते हैं तुलसी के औषधीय गुण:

1. सर्दी, खाँसी, बुखार में तुलसी का उपयोग :

मलेरिया, मियादी बुखार, सर्दी, खांसी आदि की शिकायत होने पर तुलसी के पत्तों के रस में अदरक का रस और  काली मिर्च का चूर्ण मिलाएं और शहद के साथ उसका सेवन करे |

2.  नपुंसकता रोग :

यह बहुत ही भयंकर रोग है , किन्तु तुलसी के बीजों का चूर्ण बनाकर एक ग्राम प्रतिदिन रात को सोते समय दूध के साथ सेवन करने से इस भयंकर रोग से मुक्ति मिलती है | अर्थात नपुंसकता जड़ से ख़त्म हो जाती है |

3.  उल्टी होने पर :

उल्टी होने पर तुलसी के रस को पुदीना और सौंंफ के अर्क में मिलाकर रोगी को पिलाएं उल्टी रोकने की अचूक दवा है |

4. सांप के काटने पर :

यदि विषैले सिर्प ने काट लिया है तो तुलसी की जड़ को पीसकर इसका लेप बना लेंं उसके बाद सर्प ने जहाँ  काटा है उस स्थान पर इस लेप को लगाये विष का प्रभाव बहुत कम हो जाएगा उसके बाद तुरंत डॉक्टर सहायता लें |

5. पेट के कीड़े :

अक्सर छोटे बच्चों के पेट में कीड़े पड़ जाते हैं , बच्चे रोते हैं , उनके पेट में मरोड़ होती है | तो ऐसी अवस्था में तुलसी का अर्क गुण में मिलाकर बच्चों को खिलाएं कीड़े मर जाएंगे |

6. मधुमेह :

मधुमेह रोग से मुक्ति पाने के लिए दस पत्ते तुलसी के और दस पत्ते गुड़मार के प्रातः काल पानी के साथ सेवन करे 

7. दाद :

तुलसी के पत्तो का अर्क निकालकर दिन में दो -तीन बार दाद पर लगायेंं शीघ्र लाभ मिलेगा |    

How to take care of eyes?

दोस्तों आंखों के बारे में मैं पहले भी एक लेख लिख चुका हूं | इसे आप यहां क्लिक Eye Diseases करके पढ़ सकते हैं | आंखे हमारे शरीर का एक बहुमूल्य अंग है | इसलिए आँखों की देखभाल हमें बहुत ही सावधानी से  करनी चाहिए |








आंख आना  :

आँख आने पर गाय के दूध में रुई को भिगोकर उस पर फिटकरी के चूर्ण को छिड़कर आँखों पर बांधे | 

आंख की गुहेरी :

आंखों की पलकों पर जो छोटी-छोटी फुंसियां हो जाती हैं उन्हें गुहेरी कहते हैं |

  1.  पुदीने और धनिया की हरी पत्तियां पीसकर पलकों पर लेप करने से गुहेरी ठीक हो जाती है |
  2. इमली के बीज (गिरी ) को साफ कर पत्थर पर घिसकर आंखों पर लगाएं |
  3. हल्दी को स्त्री के दूध में घिसकर आंखों पर लगाएं | आश्चर्यजनक फायदा होगा |

आँखों से पानी आना :

  1. अमरूद को आग में भूनकर खाने से आंखो का पानी गिरना बंद हो जाता है |
  2. धनिया पुदीने की चाय में चुटकी भर नमक मिलाकर पिए |
  3. दो छोटी इलायची पीस कर रात को एक गिलास दूध में उबालकर पीने से आंखों से पानी आना बंद हो जाता है |
  4.  रात के समय त्रिफला पानी में भिगो दें सुबह उस पानी को छानकर कर आंखों पर छींटे मारे |  अचूक औषधि है |

दृष्टि दुर्बलता यह नजर की कमजोरी :

आंखों से कम दिखाई देना ही दृष्टि दुर्बलता है |


  1.  इलायची के दानों का चूर्ण और शक्कर बराबर मात्रा में लेकर एरंड का तेल मिलाएं 4 ग्राम की मात्रा 40 दिन तक इस्तेमाल करें आश्चर्यजनक रूप से फायदा होगा और नेत्र ज्योति बढ़ेगी |
  2. संतरे के रस में पिसी हुई कालीमिर्च और सेंधा नमक मिलाकर सुबह-शाम सेवन करें दृष्टि दोष से मुक्ति मिलेगी 
  3.  सहजन का रस और शहद बराबर मात्रा में मिलाकर काजल बनाएं और प्रतिदिन आंखों में लगाएं निश्चित लाभ होगा |

मोतियाबिंद  :
आंख की पुतलियों पर पर्दा पड़ना ही मोतियाबिंद के लक्षण है | 

  1. बादाम की गिरी और 7 दाने कालीमिर्च को पीसकर पानी में मिलाकर छान लें और मिश्री डाल कर सेवन करें शीघ्र लाभ होगा |
  2. 10 मिलीग्राम प्याज का रस 10 मिलीग्राम शहद में 2 ग्राम भीमसेनी कपूर मिलाकर शीशी में रख ले और रात को सोते समय सलाई से आंखों में लगायेंं |
  3.  गाजर पालक और आंवले के सेवन से मोतियाबिंद नहीं बढ़ता | इसलिय मोतियाबिंद के रोगी इनका अधिक से अधिक सेवन करे |
  4.  सौंफ धनिया बराबर मात्रा में लेकर उसमें भूरी शक्कर मिलाएं और 10 ग्राम की मात्रा का प्रतिदिन सेवन करें |
  5. पुरानी ईद का टुकड़ा पीसकर छान लें फिर उसे आक के दूध से तर करें और रख दे | जब दूध सूख जाए तो 10 ग्राम चूरे में पांच लौंंग पीसकर मिला लें और दिन में 5 से 6  बार सूंघे | बहुत ही अच्छी औषधि है |
  6.  सुपारी को पानी में पत्थर पर घिसकर लगाने से आंख की सूजन दूर होती है |

रतौंधी :

 आंख से धुंधला दिखाई पड़ना रतौंधी रोग के लक्षण हैं |
  1. टमाटर के रस का सुबह-शाम सेवन करने से रतौंधी रोग दूर हो जाता है |
  2. टब में पानी भरकर उसमें अपना चेहरा डालकर लगातार आंखें खोले रखें ऐसा करने से आंखों की ज्योति बढ़ेगी |
  3.  10 ग्राम बेल के पत्ते ,6 दाने कालीमिर्च ,और 25 ग्राम चीनी को पानी में बारीक पीसकर सुबह-शाम सेवन करें |

आँखों में जलन होना :

  1. गाय के दूध का मक्खन लगाने से आंखों की जलन दूर होती है |
  2.  दही की मलाई का पलकों पर लेप करने से आंखो की जलन खत्म हो जाती है |
  3.  हल्दी फिटकरी और इमली के पत्तों की पुल्टिस बना कर आंखों की सिकाई करें आंखों की जलन मिट जाएगी |

रोहे :
यह आंखों में अंधापन लाने वाला खतरनाक रोग है यह बच्चों में अधिक होता है |

  1.  भोजन के साथ बेल और गाजर के मुरब्बे का सेवन करने से रोहे रोग से राहत मिलती है |
  2.  तुलसी, अदरक, शहद और प्याज का रस मिलाकर दिन में सेवन करें रोहे में लाभकारी है |
  3.  ईसबगोल की भूसी में आंवले का चूर्ण बराबर मात्रा में मिलाकर दूध के साथ सेवन करें |

बुधवार, 16 जनवरी 2019

best home remedies for facial beauty


चेहरे पर मुंहासे झाइयां फुंसियों केआयुर्वेदिक उपचार :


दोस्तों हमारे जीवन में सुंदरता का बड़ा ही महत्व है | सुंदर दिखने के लिए स्त्री हो या पुरुष क्या-क्या करते हैं कितना पैसा खर्च करते हैं | लेकिन ब्यूटी पार्लर अथवा सैैलून से पाई गई सुंदरता कुछ ही क्षणों के लिए होती है | जब मेकअप उतरता  है | तो वही चेहरा इसके अलावा ब्यूटी पार्लर में हमारी स्किन के ऊपर जिस तरह की क्रीम अथवा फेसपैक लगाते हैं वह सब केमिकल द्वारा निर्मित होते हैं | जिससे हमारी त्वचा और ज्यादा खराब होती है | अगर आप भी घरेलू उपचार या आयुर्वेद में विश्वास रखते हैं | तो हम सुन्दरता के लिए घरेलु उपचार बता रहे है | एक बार अवश्य आजमाकर देखे |



Pimples 


चहरे की सुन्दरता के लिए :

आपकी त्वचा का रंग सांवला या काला है, जगह -जगह चकत्ते या झाइयां पड़ गई हैं , अन्य लोगों की तरह आपके चेहरे पर चमक नहीं है, तो कदापि चिंता ना करें इन सभी परेशानियों का एक ही हल है |
1. 50 ग्राम इमली पानी में डाल दें जब वह फूल जाए तो मसलकर चटनी की तरह बना लें और नित्य प्रतिदिन त्वचा पर लेप करें 20 मिनट बाद ठंडे पानी से स्नान करें आपकी त्वचा मुलायम होने के साथ-साथ रंग गोरा होने लगेगा चेहरे के दाग धब्बे मिट जाएंगे |
2.  2 नींबू निचोड़ कर एक बाल्टी पानी में मिलाएं और स्नान करें बेहद गुणकारी नुस्खा है अवश्य आजमाएं |

मुहांसे :

मुंंहासों के कारण भी चेहरा भद्दा लगता है |
1. जायफल और लाल चंदन को पानी में घिसकर चेहरे पर लेप करने से मुंंहासे जड़ से चले जाते है |
2. चौथाई नींबू का रस थोड़ी सी हल्दी और चुटकी भर नमक मिलाकर थोड़े से पानी में गुनगुना कर ले | फिर इस लेप को चेहरे पर लगाएं और कुछ देर तक लगा रहने दें | मुंंह को ठंडे पानी से धोएं यह क्रिया सप्ताह में एक बार करने से मुंंहासे नहीं होंगे |
3. नीम की जड़ को पानी में घिसकर चेहरे पर लगाने से मुंंहासे नहीं होते और जो होते हैं वह भी नष्ट हो जाते हैं |

चेहरे की झुर्रियां एवं  झाइयां :

1. नींबू का रस और शहद मिलाकर चेहरे पर लगाएं झुर्रियां और झाइयां समाप्त हो जाएंगी |
2.  30 ग्राम अजवायन बारीक पीस कर  30 ग्राम दही में मिलाकर रात को मुंह पर लगाएं |
3. मसूर को नींबू के रस के साथ पीसकर चेहरे पर लेप करने से झाइयां नहीं होती |

चेहरे की फुंसियां :

1. अरबी ( अरई )  के पत्तों को जलाकर उसकी राख तेल में मिलाकर लगाएं फुंसियां ठीक हो जाएंगी |
2. करेले की जड़ पीसकर फुंसियों पर लगाएं जल्द आराम मिलेगा |
3.  नीम की कोपलेंं  छाछ में पीसकर फुंसियों पर लेप करने से फुंसियां शीघ्र नष्ट हो जाती हैं |


amazing health benefits of garlic honey ginger

सोने से पहले करे सेंंवन फिर देखे चमत्कार :

इस समय सर्दी का मौसम अपना असर पुरे जोर शोर से दिखा रहा है | और इस कड़कड़ाती ठंड में खांसी जुकाम का होना एक आम बात है | आज हम आपको एक ऐसा उपचार बता रहे है ,जिसे करने से कफ़ ,खांसी ,जुकाम रातोंं-रात छूमंतर हो जायेंगे | 

 Garlic

नुस्खा :

1 . चम्मच अदरक का रस 
1 . चम्मच लहसुन का रस 
2 . चम्मच शुद्ध शहद 
इन सबको एक कटोरी में मिलाकर गरम कर ले | 
रात को सोने से पहले इसका सेवन करे |
सुबह जब आप उठेंगे तो सिर्फ एक ही ख़ुराक में इसका चमत्कार देखेंगे |
इसकी सिर्फ एक ख़ुराक से कफ़,सर्दी,खांसी,जैसे रोग छूमंतर हो जाते है |

सावधानी : 

इसका सेवन सिर्फ रात को सोने से पहले ही करे इसके सेवन के बाद तुरंत सो जाए और किसी भी खाद्य अथवा तरल पदार्थ का सेवन ना करे |
दोस्तों आपको हमारा यह नुस्खा कैसा लगा कमेंट करके हमें अवगत अवश्य करे |
हमारी इस पोस्ट को शेयर करना ना भूले |
                                                                              धन्यवाद            

सोमवार, 14 जनवरी 2019

9 amazing health benefits of alum

फिटकरी के गुण :

फिटकरी एक रंगहीन,क्रिस्टलीय पदार्थ है , फिटकरी का रासायनिक नाम "Potassium aluminum sulfate"है, इसे Latina भाषा में  "alum" भी कहते है |
फिटकरी हमारे लिए एक बहुत ही उत्तम औषधि है | यह बहुत ही महत्वपूर्ण है अतः हर घर में हर समय फिटकरी रहना आवश्यक है |

 Alum

फिटकरी के आयुर्वेदिक उपयोग :

1. दांत दर्द में लाभकारी है फिटकरी :

फिटकरी और रीठे की गुठली को बारीक पीस कर इसका चूर्ण बनाकर दांतों पर मलने से दांत दर्द में शीघ्र लाभ मिलता है |

2. पायरिया :

पांच ग्राम फिटकरी के चूर्ण में जामुन की लकड़ी के कोयले को बारीक पीस कर मिलायेंं और इस मिश्रण को दांतों पर हल्के-हल्के मले | पायरिया रोग में शीघ्र ही आराम मिलेगा |

3. आँख के रोहे :

यह बहुत ही कष्ट कारक रोग है इस रोग में फिटकरी अत्यंत ही लाभदायक औषधि है | 
10 ग्राम फिटकरी , 10 ग्राम सुहागा , 3 ग्राम कलमी शोरा इन तीनो को बारीक पीस कर मिलाकर अच्छी तरह छानकर दो -दो बूंद सुबह शाम आँखों डालेंं शीघ्र ही लाभ मिलेगा |

4. पीलिया :

10 ग्राम फिटकरी बारीक पीसकर इसके 20 भाग करके एक-एक भाग दिन में तीन बार गाय के दूध के साथ सेवन करे | यह पीलिया रोग में बहुत ही उत्तम  औषधि है |

5. कुष्ठ रोग :

100 ग्राम फिटकरी पीसकर चूर्ण बना लेंं | गाजर तथा मूली के रस में एक चम्मच शहद और  2 रत्ती फिटकरी का चूर्ण मिलाकर प्रतिदिन सेवन करने से कुष्ठ रोग में  शीघ्र लाभ होगा |

6. ज़ख्म होने पर :

यदि किसी प्रकार आप को चोट लग गई और हल्का फुल्का जख्म हो गया है तो फिटकरी पीसकर कटे हुए भाग पर बुरक देंं | जख्म को पकने से बचाव होगा तथा जख्म शीघ्र ही भर जाएगा |

7. बुखार :

यदि बुखार हुआ है तो थोड़ी सी सोंंठ में फिटकरी मिलाकर बतांंसे के साथ खिलाएं बुखार उतर जाएगा |

8. अन्दरूनी चोट लगने पर :

 यदि किसी रूप में अंदरूनी चोट आ गई हो | जैसे  - फिसल का गिरने आदि से शरीर के किसी भी   स्थान पर चोट आ गई हो | तो वह चोट आंतरिक रुप से घातक हो सकती है | ऐसे में आधा किलो दूध में हल्दी डालकर  अच्छी तरह उबालेंं फिर उसे आंच पर से उतार लें तत्पश्चात उसमें थोड़ी सी फिटकरी पीसकर डाल दें और पिलायें | बहुत उत्तम औषधि है |

9. पसीने की दुर्गंध :

यदि पसीने में दुर्गंध आती है | तो नहाते समय पानी में थोड़ी फिटकरी डाल लेंं | लगातार कुछ दिन इस प्रयोग को करने से पसीने की दुर्गंध से निजात मिलेगी |  
  

from the home remedies black long shiny hair



बालों के रोग (Hair Problem) 

लंबे ,घने व लहराते काले बाल ‌‍सुन्दरता में चार चाँद लगा देते है ,किन्तु इनसे जुडी परेशानिया अक्सर समस्या बन जाती है परन्तु घबराये नहीं क्युकी इसका समाधान है |


Long black and shiny hair 

 

  • सूखे आंवले के चूर्ण को पानी के साथ पेस्ट बना कर इसका सर पर लेप करे  15 मिनट बाद बालो को पानी से धो ले , ऐसा करने से बालो का असमय सफ़ेद होना और गिरना बंद हो जायेगा | 
  • एक चम्मच आंवले का चूर्ण पानी के साथ सोते समय ले लेने से बालो का असमय सफ़ेद होना बंद हो जाता है ,और इससे चेहरे पर निखार आ जाता है   
  •   काली मेहंदी पानी में घोल कर रात को लगाये ,सुबह सिर धो ले ,इस तरह सारे बाल जड़       से काले हो जायेंगे |
                                 

how to avoid heart diseases from home remedies

ह्रदय के रोग 

ह्रदय रोग एक ऐसा कष्टकारी रोग है यह जब किसी के जीवन में  प्रवेश करता है तो उसका जीवन बड़ा ही कष्टकारी हो जाता है ,
ह्रदय रोग से बचाव के कुछ उपाय >


heart disease  


  1. सेब का मुरब्बा सुबह खाली पेट लेने से ह्रदय स्वस्थ रहता है |
  2. सुखा अदरक (सोठ ) का चूर्ण शहद में मिलाकर खाने से ह्रदय शक्तिशाली हो जाता है |
  3.  उक्त रक्तचाप वाले व्यक्तियों को तरबूज के रस में सेंधा नमक व् काली मिर्च मिलाकर लेना लाभप्रद  होता है | 
  4. रात को गाजर भुनकर छिलकर खुले में रख दे ,सुबह इसमें  शक्कर और गुलाब जल मिलाकर खाली पेट खाने से ह्रदय की धड़कन  समान्य हो जाएगी  | 
  5.  5  ग्राम मेथीदाना पीस ले और इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर सेवन करे  इससे दिल का दर्द जलन और घबराहट दूर होगी | 

eye treatment by home remedies

आँखे हमारे शरीर का बहुमूल्य अंग है हमें इनकी देखभाल अवश्य करनी चाहिये | तो फिर आईये जानते है ,आँखों के रोग के कुछ घरेलु उपचार -:

 EYE



  1. रतौंधी ( रात में दिखाई ना देना ) में नीम की दस -बारह ताजी पत्ती और 20 ग्राम गुड़ के साथ सुबह खाली पेट और रात को सोते समय खाए,  इसका एक महिना नियमित सेवन करने से लाभ मिलता है .
  2. 4  ग्राम मुलेठी का चूर्ण और 4 ग्राम असगंध का चूर्ण ,8 ग्राम आंवले का रस तीनो को मिलाकर दिन में एक बार सेवन करने से 5 -6 महीने में आँखों की रोशनी बढ़ जाती है .
  3. शहद आँखों में लगाने से आँखों में जलन अवश्य होती है ,लेकिन कुछ समय बाद आँखों  से गन्दा पानी निकल जाता है और आँखों  ठंडक मिलती है .
  4. सौंफ का सेवन प्रतिदिन करने से आँखों की रोशनी बढ़ती है और आंखे निरोगी रहती है .
  5. कच्चे आलू को पत्थर पे घिस कर काजल की तरह लगाने से जाला -फुला साफ हो जाता है   / 

5 amazing tips for cough and cold

बदलते मौसम में सेहत का बहुत ध्यान रखना पड़ता है | बच्चो की सेहत का तो विशेष ध्यान रखना पड़ता है | बदलते मौसम में खांसी और ज़ुखाम तो अक्सर हो ही जाते है  अगर आप भी खांसी और ज़ुखाम से परेशान है तो कोई गोली लेने से पहले कुछ घरेलु नुस्खे आजमा लेंं निश्चित ही आपको लाभ होगा |


cough and cold 

  1. एक चम्मच अदरक का रस और एक चम्मच शहद एक कटोरी में दोनों को मिलाकर  धीमी आंच पर गरम करे हल्का गुनगुना होने पर इसे पी लें | दिन में दो बार इसे पीने से गला एकदम साफ़ हो जाता है और कफ़ भी नहीं बनता |
  2.  2  ग्राम इलायची के दानो का चूर्ण और 2  ग्राम सोंठ का चूर्ण दोनों को 1 चम्मच शहद में मिलाकर पीने से    खांसी  दूर होती है |
  3. 10 ग्राम अजवायन को तवे पर हल्का गरम करले साफ कपडे में बांध ले फिर इसे हथेली पर रगड़े और सूंघे ऐसा पांच मिनट तक करने से ज़ुखाम ,सिर दर्द और सिर का भरी पन तुरंत समाप्त हो जाता है |
  4. दालचीनी एवं जायफल को बराबर मात्रा में पीसकर दिन में दो बार लेने से ज़ुखाम ठीक हो जाता है |
  5. अगर कफ अधिक हो तो  100  ग्राम सरसों पीसकर उसमे  100  ग्राम हल्दी मिलाये इस मिश्रण को हल्की आंच पर भूने फिर इस चूर्ण को 5 ग्राम सुबह और 5 ग्राम  शाम को शहद के साथ ले तुरंत लाभ होगा | 

home remedies for mouth ulcers

मुंह के छाले:

मुंह के छालों से सचमुच बहुत परेशानी होती है किसी भी खाने पीने में कोई स्वाद नहीं आता और कुछ खाओ तो जलन होती है स्वभाव भी चिड़चिड़ा हो जाता है | तो क्यों न कुछ घरेलु नुस्खे आजंंमाए जाए |



1. पानी में एक चम्मच फिटकरी डाले ,उसे अच्छी तरह से मिला ले ,इस पानी से दिन में  चार समय कुल्ला करने      से छालों में आराम मिलता है |

2. रात को सोते समय छालों में मक्खन या घी लगा ले छालो में जलन नहीं होगी |

3. छोटी हरड़ थोडा पानी मिला कर घिस ले इस लेप को चालो पर लगाए |

4. बेलपत्र के पत्ते दिन में तीन चार बार चबाएं छाले जल्दी ठीक हो जायेंगे |

5. छोटी पीपल को पीसकर शहद में मिलाकर छालो के ऊपर लगाने से छाले जल्दी ठीक हो जाते है |

6. भोजन के बाद एक चम्मच त्रिफला चूर्ण लेने से उदर ठीक रहता है और छाले भी नहीं होते |

7. कथ्ते के साथ अमरुद की पत्तिया चबाने से छाले जल्दी ठीक हो जाते है |

8.जिन्हें बार बार छाले होते है उन्हें टमाटर ज्यादा खाने चाहिये टमाटर के रस को पानी में मिलाकर कुल्ला करने    से छाले ठीक हो जाते है | 

The amazing health benefits of cloves

लौंग के आश्चर्यजनक लाभ:

 हमारी रसोई ऐसे अनेक मसालों से भरी रहती है जिनके इस्तेमाल से हम अपने शरीर को स्वस्थ रख सकते है |  परन्तु हम सही जानकारी के अभाव में इनका उपयोग नहीं कर पाते | बुजुर्गो को तो इनकी सही जानकारी होती है | परन्तु युवा पीड़ी इन सबसे अनजान है | परन्तु हल्दी के बारे में तो हम सभी जानते है , की हल्दी में कितने सारे गुण होते है ? हल्दी हमारे खाने से लेकर शरीर पर लेप करने तक हमारे शरीर की कितनी रक्षा करती है , हल्दी में एंटीसेप्टिक गुण की वजह से घाव भरने और उसे ठीक करने से लेकर सुन्दरता प्राप्त करने तक में इसका प्रयोग किया जाता है | इसी तरह लौंग भी औषधीय गुणोंं का खजाना है |

 health benefits of cloves  




लौंग के औषधीय गुण :

लौंग भी हल्दी की ही तरह हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में बहुत ही उपयोगी है | लौंग में  (potassium, iron, calcium,phosphorus, magnesium, Omega 3 and fibre) पोटेशियम ,आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, ओमेगा 3 एवं फाइबर जैसे कई पोषक तत्व पायेंं जाते है जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक है |


प्रति दिन रात्रि को सोने से पहले दो लौंग गुनगुने पानी से साथ सेवन करने से शरीर में होने वाले दर्द में राहत मिलती है | और हमारी पाचन क्रिया भी ठीक रहती है लौंग के सेवन से हमारे शरीर में  ( immunity) रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ती है , जिसके कारण हमारा शरीर स्वस्थ रहता है |
  प्रतिदिन रात्रि में सोने से पूर्व दो लौंग और एक गिलास गुनगुना पानी के सेवन से पेट के सभी प्रकार के रोगों में लाभ मिलता है इसके सेवन से पेट दर्द गैस एसिडिटी की समस्या जड़ से खत्म हो जाती है |

शनिवार, 12 जनवरी 2019

how to reduce obesity

मोटापा (Fatness )

मोटापा कम करने के उपाय :

             सच में मोटापा एक बहुत बड़ी समस्या है मोटापा जब आता है तब ढेर सारी बीमारीयांं साथ लाता है 
मोटापे का सही कारण है | मिलावटी खान -पान और हमारी दिनचर्या |
दिनचर्या तो हम अपनी बदल सकते है पर इस मिलावटी खाने से कैसे बचे आजकल तो गाँव देहातो में भी खूब मिलावट चलती है फिर भी कुछ ऐसे घरेलु नुस्खे है जिससे हम अपना खाना पचा सकते है |




  how to reduce obesity


  • सुबह खली पेट  एक निम्बू गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से पेट कम होता है |
  • आधा गिलास गाजर और आधा गिलास  पालक का पानी पीने से मोटापा कम होता है |
  • खाना खाने के बाद हमेशा गुनगुना पानी पिये और उसमे आधा निम्बू मिला ले तो और अच्छा है| 
  • कच्चा टमाटर ,निम्बू ,नमक और प्याज का सलाद खाने से मोटापा कम होता है |
  •  एक चम्मच त्रिफला चूर्ण  एक चम्मच शहद को एक गिलास पानी में मिलाकर पीने से लाभ मिलता है |    

शुक्रवार, 11 जनवरी 2019

White Hair Solution in hindi

सफ़ेद बाल सिर्फ तीन महीनो में काले करे गारंटी से :


दोस्तों इस व्यस्त जीवन और मिलावटी खान -पान से हमारे  शरीर में समय से पहले ही बहुत सी बीमारियाँ घर कर जाती है जिनका हमें पता ही नहीं चलता और जब पता चलता है तब हम डॉक्टरो के पास जाते है और समय और पैसा दोनों ही बर्बाद करते है अगर हम थोड़ी सी सावधानी बरते तो हम अपने शरीर में समय से पहले जो जो परिवर्तन आते है उन्हें हम रोक सकते है / जैसे बालो का समय से पहले ही सफ़ेद होना .बालो में रुसी का होना
रुसी से हमारे बाल कमजोर हो जाते है, जिसकी वजह से वह टूटने लगते है और हम गंजे होने लगते है |




 White Hair



सामग्री 

  • 500 ग्राम नारियल तैल  
  • 500 ग्राम आंवला 
  • 2     गोली कपूर 

बनाने की विधि ,

           नारियल के तेल को एक लोहे की  कड़ाही में गर्म करे और उसमे आंवले के छोटे -छोटे टुकड़े करके डाल दे, और उसको धीमी आंच पर जब तक पकने दे जब तक तेल का रंग भूरा ना हो जाये ,जब तेल  का रंग भूरा हो जाये तो उसमे से आंवले के टुकड़े निचोड़ कर निकाल ले अब उसमे कपूर की दो गोली डाल दे बस तेल तैयार है ,
में यह तो नहीं कहूँगा की आपके बाल 10 दिन में या एक महीने में काले हो जायेंगे लेकिन अगर आप इस तेल  को  लगातार अपने बालो में लगाओगे तो आपको जल्दी फर्क दिखने लगेगा ,और रुसी तो इस तैल से बिलकुल 
गायब हो जाती है ,
इतना और कहना चाहूँगा की बाहर का खाना ना खाया करो बेशक हरी सब्जी ना खाओ पर खाना घर का खाया करो,   
दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी कमेन्ट करके अवगत जरूर कराये   
                                                                                                                धन्यवाद्